जेईई-मेन ओरिजनल आई-डी प्रुफ दिखाकर ही मिलेगा प्रवेश

इस वर्ष जनवरी व अप्रेल में पूर्णतः कम्प्यूटर बेस्ड होने जा रही देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन जिसमें इस वर्ष 9 लाख 65 हजार से अधिक विद्यार्थियों ने रजिस्ट्रेशन किया है। जनवरी माह में यह परीक्षा 8 जनवरी को बी/आर्क के लिए एवं 9-10-11-12 जनवरी को बीई एवं बीटेक के लिए दो शिफ्टों में 9.30 से 12.30 एवं दोपहर 2.30 से 5.30 के मध्य आयोजित होगी। जेईई-मेन एनटीए द्वारा विद्यार्थियों के प्रवेश पत्र आवश्यक दिशा निर्देशों के साथ जारी कर दिए गए हैं।

आवश्यक एडवाइजरी जारी
जेईई-मेन के लिए एनटीए द्वारा विद्यार्थियों के लिए आवश्यक एडवाइजरी जारी की गई है। जिसके अनुसार प्रवेश पत्र पर दिए गए दिशा निर्देशों में से पांच बातों पर ध्यान देने को कहा गया है। इसमें रिपोर्टिंग सेंटर का टाइम, प्रवेश द्वार बंद होने का समय, परीक्षा तिथि, परीक्षा का समय एवं शिफ्ट तथा परीक्षा का स्थान शमिल है। विद्यार्थी को एक दिन पूर्व अपने परीक्षा केन्द्र को देखने, विद्यार्थी को परीक्षा प्रारंभ होने से दो घंटे पूर्व रिपोर्ट करने की सलाह दी गई है। परीक्षा प्रारंभ होने से आधा घंटे पहले परीक्षा केन्द्रों में प्रवेश रोक दिए जाएंगे। विद्यार्थियों को आवश्यक रूप से आवेदन के दौरान लगाए गए फोटोग्राफ के साथ-साथ एक और ओरिजनल आईडी प्रुफ जैसे की पेन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी, पासपोर्ट, आधार कार्ड, राशन कार्ड में से किसी भी एक फोडो आईडी प्रुफ लाने के निर्देश दिए गए हैं। आईडी प्रुफ के तौर पर स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी एवं कोचिंग संस्थान की आईडी मान्य नहीं होगी और ना ही आईडी की छाया प्रति एवं मोबाइल रिकोर्डेड आईडी मान्य होगी। डायबिटिक विद्यार्थियों को फल, दवाई एवं ट्रांसपेरेन्ट पानी की बोतल ले जाने की अनुमति रहेगी। शारीरिक विकलांग विद्यार्थियों को अपने साथ आवश्यक रूप से विकलांगता प्रमाण पत्र ले जाना होगा। विद्यार्थियों को परीक्षा हाल में इलेक्ट्रोनिक डिवाइसेज ले जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। विद्यार्थियों को परीक्षा हाल में ही पेन-पेंसिल व रफ कार्य करने हेतु शीट दी जाएगी। विद्यार्थी दी गई शीट पर अपना नाम, रोल नम्बर लिखकर ही उपयोग कर सकेगा। अंत में परीक्षा समाप्त होने पर यह शीट परीक्षक को पुनः लौटानी होगी। परीक्षा के दौरान विद्यार्थी का फोटो, हस्ताक्षर एवं बाएं अंगूठे के निशान अटेंडेंस शीट पर लिया जाएगा। विद्यार्थी परीक्षा प्रारंभ होने से पहले अपनी सीट ग्रहण कर दिए गए कम्प्यूटर पर लॉगिन कर परीक्षा से संबंधित निर्देश पढ़ सकता है।

रियल टेस्ट टाइम प्रेक्टिस करें
विद्यार्थी को जनवरी व अप्रेल दोनों जेईई-मेन एग्जाम में से अधिकतम प्राप्त अंकों पर निकाली गई 7 डेसीमल पर्सेन्टाइल के आधार पर आल इंडिया रैंक निर्धारित की जाएगी। विद्यार्थी अंतिम दिनों में कुछ नया पढ़ने की कोशिश ना करें। वह जिस टॉपिक में स्ट्रॉंग है, उन्हें रिवीजन कर और स्ट्रॉंग बनाए। साथ ही रियल टेस्ट टाइम प्रेक्टिस करे। जेईई-मेन परीक्षा का जो स्लॉट उन्हें मिला है, उसी के अनुसार पुराने पेपर्स को सॉल्व कर प्रेक्टिस करे। प्रश्नपत्र हल करने के दौरान सर्वप्रथम अपनी नॉलेज के आधार पर आने वाले एवं सरल प्रश्नों को सॉल्व करे, उसके उपरान्त कठिन एवं लम्बे प्रश्नों को सॉल्व करे। इससे उसका टाइम मैनेजमेंट परफेक्ट होगा एवं आते हुए प्रश्न कभी छूटेंगे नहीं।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.