जेईई-मेन- 2020  विद्यार्थियों को मिला परीक्षा केंद्र बदलने का अंतिम मौका   एप्लीकेशन फाॅर्म में री-करेक्शन 31 मई तक

देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन जो की 18 से 23 जुलाई के मध्य होनी है जिसमे अब विद्यार्थियों को आवेदन के दौरान हुई गलतियों में सुधार एवं परीक्षा केंद्र बदलने क अंतिम मौका 31 मई शाम 5 बजे तक दिया गया है। विद्यार्थियों को पूर्व में दो बार भी यह मौका दिया जा चूका है परन्तु जेईई-मेन परीक्षा तिथि बाद में घोषित होने पर एंटीए द्वारा विद्यार्थियों के हित को देखते हुए उनकी मांगों के अनुसार अब परीक्षा केंद्रों में बदलाव का अवसर दुबारा दे दिया गया है ताकि विधार्थी काम से काम दुरी तय करके अपनी परीक्षा को सुचारु रूप से दे सके।


विद्यार्थियों के पास परीक्षा केंद्रों में बदलाव का यह अंतिम अवसर है अतः ऐसे में विद्यार्थी जेईई-मेन के परीक्षा केंद्र उनकी द्वारा दी जाने वाली अन्य परीक्षाओ की तिथियों एवं परीक्षा केंद्रों को ध्यान में रखकर ही चुने ताकि वह अपनी सभी परीक्षाओं को सुचारू रूप से दे सके। क्योंकि अब तक अन्य सभी प्राइवेट एवं गवर्नमेंट संस्थानों की प्रवेश परीक्षाएं जेईई मेन अप्रैल के उपरांत ही संपन्न होती थी परंतु इस वर्ष वह सभी परीक्षाएं जुलाई अगस्त के लिए स्थगित होती जा रही है। करेक्शन के दौरान विद्यार्थी परीक्षा केन्द्रों, फोटो एवं हस्ताक्षर के साथ साथ स्वयं के नाम, माता-पिता के नाम, स्टेट ऑफ इलेजिब्लिटी, जन्मदिनांक, कोर्स, कैटेगिरी, दसवीं-12वीं की परीक्षा संबंधी जानकारी एवं अपलोड किए गए दस्तावेजों में आवश्यकतानुसार बदलाव कर सकता है। विद्यार्थी रुचिनुसार पूर्व में आवेदन के दौरान चुनी गई, बीई-बीटेक अथवा बीआर्क परीक्षा में बदलाव कर दोनों परीक्षाओं के लिए अतिरिक्त परीक्षा शुल्क का भुगतान कर आवेदन कर सकता है। विद्यार्थियों के पास करेक्शन के लिए यह अंतिम अवसर है। विद्यार्थी पुनः कन्फर्मेशन पेज का प्रिंटआउट निकालकर किए गए करेक्शन की पुष्टि कर सकते हैं। प्रवेश पत्र परीक्षा से 15 दिन पूर्व जारी किए जाएंगे।


एंटीए द्वारा आवेदन के लिए 19 से 24 मई के मध्य दिए समय में लगभग 20 हज़ार विद्यार्थियों ने आवेदन किया है ये ऐसे विद्यार्थी हो सकते है जो पहले विदेशो में पढ़ने के इक्षुक थे परन्तु कोरोना संक्रमण के चलते अब भारत में पढ़ना पसंद कर रहे है।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.