जेईई एडवांस्ड-2020 विदेश में नहीं होगी जेईई-एडवांस्ड

इस वर्ष 4 देशों में प्रस्तावित थी, गत वर्ष 5 देशों में हुई थी परीक्षा

कोटा. देश की 23 आईआईटी 12 हजार 463 सीटों के लिए जेईई-एडवांस्ड परीक्षा 27 सितम्बर को आईआईटी दिल्ली द्वारा दो पारियों में सुबह 9 से 12 एवं 2ः30 से 5ः30 बजे तक प्रस्तावित है। इस वर्ष यह परीक्षा देश के 167 एवं विदेश में 4 शहरों में संपन्न होनी थी, परन्तु कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए विदेश यात्रा और वीजा जारी करने पर लगाई गई पाबंदियों के चलते इस वर्ष आईआईटी दिल्ली द्वारा विदेशों में परीक्षा के आयोजन को रद्द कर दिया गया है। इस वर्ष जेईई-एडवांस्ड परीक्षा देश में ही संपन्न होगी। साथ ही विदेशों में रह रहे विद्यार्थियों को भी परीक्षा देने के लिए भारत के परीक्षा केन्द्रों को चुनने के लिए निर्देश दे दिए गए हैं। इस वर्ष यह परीक्षा भारत के अलावा यूनाइटेड अरब के दुबई, बांग्लादेश के ढाका, नेपाल के काठमांडू और सिंगापुर में होनी प्रस्तावित थी।

गत वर्ष यह परीक्षा 5 देशों में हुई थी। विदेशी नागरिकता रखने वाले 807, ओवरसीज के 226 तथा पीआईओ ( पर्सन ऑफ इंडियन ओरिजन) के 45 विद्यार्थियों ने पंजीकरण करवाया, जिनमें क्रमशः विदेशी नागरिकता रखने वाले 53, ओवरसीज के 205 तथा पीआईओ के 44 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। साथ ही विदेशी नागरिकता से केवल एक, ओसीआई से 83 तथा पीआईओ के 16 विद्यार्थियों ने जेईई-एडवांस्ड क्वालीफाई की। विदेशी नागरिकता में वे विद्यार्थी पात्र घोषित होते हैं जिनकी नागरिकता एवं कक्षा 12वीं भारत के बाहर की है।
जेईई-एडवांस्ड वेबसाइट पर जारी की गई जानकारी के अनुसार जेईई-एडवांस्ड के माध्यम से आईआईटी में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों को 12वीं बोर्ड की पात्रता में छूट दी गई है, जिसके अनुसार 12वीं पास विद्यार्थी जेईई एडवांस्ड क्वालीफाई कर आईआईटी में प्रवेश ले सकेंगे। इससे वर्ष 2019 में 12वीं पास करने वाले ऐसे विद्यार्थी जिनकी बोर्ड पात्रता गत वर्ष पूरी नहीं हुई थी और इस वर्ष इम्प्रूवमेंट देने के बाद भी बोर्ड पात्रता पूरी नहीं कर पाए वे भी जेईई-एडवांस्ड 2020 क्वालीफाई कर आईआईटी में प्रवेश लेने के पात्र होंगे।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.