कोेरोना इफेक्टः नीट-यूजी 2020- परीक्षार्थियों को परीक्षा केन्द्र शहर बदलने का मौका दिया 14 अप्रेल तक किए जा सकेंगे करेक्शन

कोरोना संक्रमण के खतरे के चलते किए लाॅकडाउन से नीट-यूजी की आवेदन में करेक्शन की प्रक्रिया में भी सुधार हो रहे हैं। इन दिनों परीक्षा आयोजनकर्ता नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने नीट-यूजी-2020 द्वारा एप्लीकेशन फाॅर्म की आॅनलाइन री-करेक्शन प्रक्रिया के तहत शुक्रवार को एक और बदलाव किया गया।
करेक्शन 1 से 14 अप्रेल तक किए जा रहे हैं। इस संबंध में 10 अप्रैल, शुक्रवार को एक और नोटिफिकेशन जारी कर परीक्षा केन्द्र के शहर बदलने की स्वीकृति भी जारी कर दी गई। अब स्टूडेंट्स स्वयं के द्वारा भरे गए परीक्षा शहरों की च्वाइस में बदलाव कर सकेंगे। वे वर्तमान में जहां हैं या जिस शहर में परीक्षा देना चाहते हैं, उसके विकल्प को भर सकेंगे। एनटीए के अनुसार कोरोना संक्रमण के चलते स्टूडेंट्स कई शहरों में हैं और ज्यादा यात्रा करने की स्थिति में नहीं हैं। ऐसे में स्टूडेंट्स घर से कम से कम दूरी पर परीक्षा दें सकें, इसके लिए यह विकल्प दिया गया है, हालांकि एनटीए द्वारा दिए गए परीक्षा शहर को ही अंतिम माना जाएगा।
इससे पहले स्टूडेंट्स एनटीए-नीट-यूजी की वेबसाइट पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन नम्बर तथा पासवर्ड डालकर कम्प्लीट सबमिटेड एप्लीकेशन फाॅर्म देख सकते हैं। एनटीए द्वारा पहले परीक्षा केन्द्र के शहर व परीक्षा के माध्यम की भाषा में बदलाव की अनुमति नहीं दी गई थी, अब ये दोनों अनुमतियां भी जारी कर दी गई हैं। स्टूडेंट्स प्रश्नपत्र का माध्यम भी बदला सकता है।
यदि कोई विद्यार्थी आरक्षित श्रेणी से अनारक्षित श्रेणी में अपनी श्रेणी में बदलाव करवाना चाहता है तो उसे उसका डिफरेंस अमाउंट डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड या नेट बैकिंग के जरिए भुगतान करना होगा। लेकिन अनारक्षित श्रेणी से आरक्षित श्रेणी में बदलाव करता है तो उसे कोई भुगतान नहीं करना होगा, जैसे कि ओबीसी या ईडब्ल्यूएस श्रेणी से अनारक्षित श्रेणी में परिवर्तन है तो उसे 100 रुपए का अतिरिक्त शुल्क अदा करना होगा। इसी प्रकार एसटी-एससी से अनारक्षित श्रेणी में परिवर्तन है तो उसे 700 रुपए का अतिरिक्त शुल्क देना होगा।
यह री-करेक्शन सिर्फ एक बार करने का मौका दिया गया है, अतः विद्यार्थी इससे पहले पूरे फार्म को ध्यानपूर्वक अवलोकन कर लें, उसके बाद ही सावधानीपूर्वक भरकर सबमिट करें। एक बार सबमिशन के बाद इसमें कोई बदलाव नहीं हो सकेगा। करेक्शन करने के बाद एप्लीकेशन फार्म तथा करेक्शन की स्लिप अपने पास संभालकर रखें।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.