फिजिक्स के लेंदी पेपर ने छुड़ाए पसीने, ओवरआॅल ईजी

देश के मेडिकल काॅलेजों में एमबीबीएस की 60 हजार सीटों पर प्रवेश का सबसे बड़ा एग्जाम नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेन्स टेस्ट (नीट-2018) रविवार को आयोजित हुई। कोचिंग एक्सपर्ट के अनुसार इस बार बाॅयोलाॅजी व कैमेस्ट्री का पेपर आसान रहा। फिजिक्स का पेपर भी ओवरआॅल ईजी रहा लेकिन न्यूमेरिकल्स में कैलकुलेशन ज्यादा होने से लेंदी रहा। पेपर एनसीईआरटी बेस्ड रहा। बाॅयोलाॅजी में कुछ प्रश्न एनसीईआरटी से बाहर के पूछे गए थे, लेकिन वे एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के माॅड्यूल से साॅल्व हो रहे हैं।

बीस अलग-अलग कोड में आया पेपर
इस बार नीट के लिए देशभर में कुल 13 लाख 26 हजार 725 विद्यार्थी रजिस्टर्ड थे और 136 शहरों में 2 हजार 225 परीक्षा केन्द्र बनाए गए थे। पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष विद्यार्थियों की संख्या ज्यादा होने और पेपर की विश्वसनीयता बनाए रखने के लिए इस बार नीट का पेपर अलग-अलग 20 कोड में जारी हुआ। जोकि सामान्यता 12 अलग-अलग कोड में आता है।

कैमेस्ट्री- एक प्रश्न में बोनस अंक मिलेगा
कैमेस्ट्री में कुल 45 प्रश्न पूछे गए थे। जिसमें तीन प्रमुख भागों आॅर्गेनिक, इनआॅर्गेनिक व फिजिकल के 15-15 प्रश्न थे। कक्षा 11वीं के सिलेबस से 24 व 12वीं के सिलेबस से 21 प्रश्न आए। कुल 16 प्रश्न काफी आसान थे। 22 प्रश्नों का स्तर मध्यम व 7 प्रश्नों का स्तर काफी कठिन था। सबसे ज्यादा 22 फीसदी प्रश्न 12वीं के सिलेबस से फिजिकल टाॅपिक से पूछे गए। पेपर एनसीईआरटी बेस्ड था। बाहर से एक भी प्रश्न इस बार पेपर में देखने को नहीं मिला।

फिजिक्स- न्यूमेरिकल्स में कैलकुलेशन ज्यादा
फिजिक्स का पेपर आसान रहा लेकिन न्यूमेरिकल्स में कैलकुलेशन ज्यादा होने से पेपर लेंदी रहा। इस वजह से विद्यार्थियों को समय काफी लगा। कुल 45 प्रश्न पूछे गए थे। कक्षा 11वीं के सिलेबस से 22 व 12वीं के सिलेबस से 23 प्रश्न पूछे गए थे। आसान व मध्यम स्तर के 19-19 प्रश्न व 7 प्रश्नों का स्तर काफी कठिन था। इस पेपर में मैकेनिक्स, थर्मल फिजिक्स, एसएचएम एंड वेव्स, इलेक्ट्रो डाइनेमिक्स, आॅप्टिक्स, माॅडर्न एंड इलेक्ट्रोनिक्स टाॅपिक को मुख्यतया कवर किया गया है। सबसे ज्यादा 31 फीसदी प्रश्न मैकेनिक्स टाॅपिक से पूछे गए थे।

बाॅयोलाॅजी का पेपर मध्यम स्तर का
एक्सपर्ट के अनुसार नीट 2018 में बाॅयोलाॅजी पेपर के स्तर को मध्यम कहा जा सकता है। सबसे ज्यादा बाॅटनी से 59 प्रश्न पूछे गए। जबकि जूलाॅजी के 31 प्रश्न आए। एनसीईआरटी के सिलेबस से 57 प्रश्न और बाहर के 33 प्रश्न पूछे गए। पेपर में 45 प्रश्नों का स्तर काफी आसान रहा। जबकि 39 प्रश्नों का स्तर मध्यम व 6 प्रश्नों का स्तर काफी कठिन रहा। 11वीं कक्षा के सिलेबस से 47 व 12वीं कक्षा से 43 प्रश्न पूछे गए थे। सबसे ज्यादा प्रश्न जेनेटिक्स प्लस बाॅयोटेक्नोलाॅजी से 16 प्रश्न थे।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.