CBSE 12वीं की परीक्षा कैंसिल, पढ़ें बड़े सवालों के जवाब

भारत सरकार ने मंगलवार को बोर्ड की परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला लिया है l CBSE 12वीं की बोर्ड की परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं, जिसके बाद अन्य कई बोर्ड अने भी इस ओर कदम बढ़ाया है l कोरोना काल में बच्चों और पैरेंट्स के सामने परीक्षाओं को लेकर चिंता बनी हुई थी, लेकिन अब एग्जाम कैंसल होने से ये चिंता दूर हुई है l बोर्ड परीक्षाओं से जुड़े अभी भी कई ऐसे सवाल हैं, जिनका जवाब मिलना बाकी है l कौन कैसे पास होगा, आगे का एडमिशन कैसे होगा, क्या क्राइटीरिया होगा, ऐसे ही सवालों का जवाब जानिए…

1.    क्या इस साल नहीं होंगे 12वीं क्लास के बोर्ड एग्जाम?
कोरोना के कारण पहले 10वीं बोर्ड की परीक्षाएं कैंसिल हो गई थीं. तब 12वीं की परीक्षाओं को टाल दिया गया था. लेकिन राज्य सरकारों, पैरेंट्स और छात्रों के विरोध के बीच 12वीं की परीक्षाओं को भी रद्द करने का फैसला किया गया l यानी अब इस साल 12वीं क्लास की परीक्षाएं नहीं होंगी l

2. रिजल्ट के लिए कौन-सा फॉर्मूला अपनाया जा सकता है?
CBSE ने जिस तरह दसवीं के लिए बिना पेपर दिए पास करने का फॉर्मूला अपनाया था, उसी का इस्तेमाल यहां हो सकता है l इसमें 20 नंबर इंटरनल असेस्मेंट के, 80 नंबर पूरी क्लास के दौरान हुए टेस्ट या दूसरे पेपर्स को मिलाकर दिए जा सकते हैं l हालांकि, अभी 12वीं को लेकर CBSE ने कोई फाइनल फॉर्मूला नहीं बनाया है l इसे जल्द ही जारी कर दिया जाएगा l

3. पेपर नहीं होंगे तो बच्चे पास कैसे होंगे?
अब जब बच्चों के एग्जाम नहीं होंगे, तो ये सवाल होता है कि छात्र पास कैसे होंगे l अभी CBSE ने 12वीं क्लास के लिए कोई फाइनल क्राइटीरिया तय नहीं किया है, सरकार ने इसका फैसला बोर्ड पर ही छोड़ा है. लेकिन 11वीं और 12वीं के दौरान हुए इंटरनल असेस्मेंट के आधार पर बच्चों को नंबर दिए जा सकेंगे l

4.  सभी के लिए पेपर कैंसिल, लेकिन मैं पेपर देना चाहूं तो?
कोरोना संकट की वजह से सरकार ने एग्जाम रद्द किए हैं, लेकिन अगर कोई छात्र पेपर देना चाहता है, तो उसको ऑप्शन दिया जाएगा l जब हालात कुछ ठीक होंगे, तब उसके लिए ऐसी व्यवस्था कर दी जाएगी l क्योंकि कई छात्र ऑटोमैटिक नंबर प्रणाली से संतुष्ट नहीं होते और वो खुद पेपर देना चाहते हैं तो इस ऑप्शन को खुला रखा गया है l

5.    अगर मैं रिजल्ट से खुश नहीं हुआ तो?
ऑटोमैटिक वाले सिस्टम से जिन बच्चों को नंबर दिए जाएंगे, अगर कोई छात्र या छात्रा उन नंबरों से संतुष्ट नहीं है तो उसके पास फिर से अपील करने का ऑप्शन खुला होगा l ऐसे वक्त में वो खुद लिखित एग्जाम दे पाएंगे l इसके लिए नियम क्या होंगे, वो CBSE द्वारा जल्द ही बताया जाएगा l

6. ग्रेजुएशन के लिए अब कैसे होगा एडमिशन?
12वीं की परीक्षा के बाद अब सबसे बड़ी परेशानी कॉलेज में एडमिशन की है l बच्चों को चिंता है कि उन्हें अब कॉलेज में एडमिशन कब मिल पाएगा, क्या उनका ईयर बेकार तो नहीं जाएगा l सरकार ने अब एग्जाम रद्द करने का फैसला लिया है तो रिजल्ट आने में जुलाई के आखिर तक का वक्त लग सकता है l ऐसे में अगर अगस्त तक नतीजे आते हैं, तो उसी आधार पर बच्चों को कॉलेज में एडमिशन के लिए अप्लाई करना होगा l वैसे भी कई यूनिवर्सिटियों में अगस्त में अगस्त-सितंबर तक एडमिशन ओपन ही रहता है, ऐसे में कॉलेज में एंट्री में ज्यादा दिक्कत नहीं आएगी, लेकिन रिजल्ट आने में देरी होती है, तो सरकार भी इस और कुछ कदम बढ़ा सकती है l

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.