AFMC MBBS: एएफएमसी पुणे का रिजल्ट जारी, ओजस भारद्वाज की रैंक 1

द आर्म्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज पुणे संस्थान में प्रवेश के लिए आयोजित परीक्षा का फाइनल रिजल्ट जारी कर दिया गया है। जिसमें कोटा कोचिंग के रेगुलर क्लासरुम स्टूडेंट ओजस भारद्वाज ने रैंक 1 प्राप्त की है। कॅरियर काउंसलिंग के अनुसार एएफएमसी पुणे की ओर से जारी मेरिट लिस्ट में 115 छात्रों एवं 30 छात्राओं को स्थान मिला है। जबकि 106 छात्रों एवं 42 छात्राओं का नाम प्रतीक्षा सूची में है।
एएफएमसी पुणे में प्रवेश के लिए नीट यूजी 2021 के कुल 720 अंकों में प्राप्त अंक, टेस्ट ऑफ इंग्लिश लैंग्वेज कॉम्प्रिहेंसन रीजनिंग एंड लॉजिकल (टोओईआरएल) में कुल 80 में से प्राप्त अंक एवं 50 अंकों के पर्सनल इंटरव्यू में प्राप्तांकांे के आधार पर मेरिट लिस्ट जारी की जाती है। मेरिट लिस्ट में शामिल विद्यार्थियों को 16 फरवरी को शाम 5 बजे तक एएफएमसी, पुणे के डीन ऑफिस कॉम्पलेक्स के एडमिशन सेल में व्यक्तिगत रूप से जाकर रिपोर्टिंग करनी होगी। जो विद्यार्थी रिपोर्टिंग नहीं करेंगे, उनकी सीट स्वतः ही वेटिंग लिस्ट में शामिल विद्यार्थियों को आवंटित कर दी जाएगी। ऐसे विद्यार्थियों की वेटिंग लिस्ट 16 फरवरी को शाम 6 बजे एएफएमसी पुणे की वेबसाइट पर जारी की जाएगी। वेटिंग लिस्ट में शामिल विद्यार्थियों को कॉलेज आवेटित होने पर 19 फरवरी को सुबह 9 बजे रिपोर्टिंग करनी होगी। रक्षा मंत्रालय के अंर्तगत आने वाला एएफएमसी पुणे देश के प्रतिष्ठित मेडिकल कॉलेजों की श्रेणी में आता है। जहां विद्यार्थियों को श्रेष्ठ शिक्षा व सुविधाएं मिलती है। इसके अलावा यहां के एएफएमसी के कैडेट्स काफी अनुशासित होते हैं और इनमें देश सेवा का जज्बा होता है।

कोटा का माहौल स्टूडेंट्स के लिए पॉजिटिव

एएफएमसी पुणे की मेरिट लिस्ट में रैंक 1 प्राप्त विद्यार्थी ओजस भारद्वाज उत्तरप्रदेश के मथुरा निवासी हैं। ओजस ने बताया कि दादा राजवीर शर्मा और पिता श्रीकांत शर्मा दोनों एक्स सर्विसमेन हैं। इसलिए शुरु से परिवार में देश सेवा का माहौल मिला। बड़ा भाई भी बीएससी करने के बाद सीडीएस की तैयारी कर रहा है। मैंने एएफएमसी पुणे में चयनित होने के लिए मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट पर सबसे ज्यादा फोकस किया। इसके अलावा मैंने फिजीकल एक्टिविटी पर भी फोकस किया। क्योंकि एएफएमसी पुणे में एडमिशन के लिए स्टूडेंट का फिजीकल फिट होना काफी जरुरी है। मैंने नीट में अच्छा स्कोर हासिल किया। जिसकी वजह से मुझे एएफएसी पुणे में प्रवेश का मौका मिला।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.