11 लाख विद्यार्थियों पर जारी हो सकती है जेईई-मेन रैंक

अप्रेल आवेदन की अंतिम तिथि 7 मार्च 2020 तक

कोटा. देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन अप्रेल जो कि इस वर्ष 5 से 11 अप्रेल के मध्य देश के 224 शहरों के परीक्षा केन्द्रों पर संपन्न होने जा रही है। अप्रेल आवेदन की अंतिम तिथि 7 मार्च तक रखी गई है, जिसमें बड़ी संख्या में विद्यार्थी आवेदन करते दिखाई दे रहे हैं, अब तक करीब एक लाख 80 हजार ऐसे विद्यार्थी भी आवेदन कर चुके हैं जिन्होंने जेईई-मेन जनवरी परीक्षा ही नहीं दी और पहली बार अप्रेल परीक्षा के लिए आवेदन कर रहे हैं। साथ ही लाखों की संख्या में ऐसे विद्यार्थी भी हैं, जो कि जेईई-मेन जनवरी परीक्षा देने के उपरान्त अपने प्राप्त एनटीए स्कोर को और बेहतर बनाने के लिए अप्रेल परीक्षा के लिए आवेदन कर रहे हैं। विद्यार्थियों के हित को देखते हुए एनटीए जेईई-मेन द्वारा जनवरी व अप्रेल में हुई त्रुटियों को सुधारने के लिए अंतिम अवसर 8 से 12 मार्च के मध्य दिया गया है, जिसमें विद्यार्थी आवश्यकतानुसार अपने आवेदन में हुई त्रुटियों में सुधार कर सकते हैं।

जनवरी जेईई-मेन में 8 लाख 69 हजार 10 विद्यार्थी परीक्षा में बैठे और अभी तक एक लाख 80 हजार से अधिक नए विद्यार्थियों ने आवेदन किया है, जिन्होंने जनवरी जेईई-मेन परीक्षा ही नहीं दी। इस प्रकार जेईई-मेन जनवरी व अप्रेल मिलाकर कुल आवेदन करने वाले यूनीक कैंडिडेट 11 लाख से अधिक होने की पूरी संभावना है। जेईई-मेन आल इंडिया रैंक जारी करने के लिए जेईई-मेन परीक्षा में बैठने वाले कुल यूनीक कैंडिडेट के जनवरी व अप्रेल परीक्षाओं में से प्राप्त उच्चतम एनटीए स्कोर को लिया जाता है। इस प्रकार जनवरी जेईई-मेन के हर एनटीए स्कोर जो कि 7 डेसिमल पर्सेन्टाइल में है पर दो से तीन हजार विद्यार्थियों के जुड़ने की संभावना रहेगी।

कई अन्य संस्थानों की आवेदन प्रक्रिया जारी


ऐसे विद्यार्थी जिनका जेईई-मेन एनटीए स्कोर पीछे हैं, उनके पास जेईई-मेन के अतिरिक्त कई प्रमुख इंजीनियरिंग संस्थानों के आवेदन करने का विकल्प उपलब्ध है बिटसेट, वीआईटी, काॅमेडके, मनीपाल, अमृता, एसआरएम, यूपीईएस, एलपीयू, कलिंगा, आईपीयू, ट्रिपलआईटी हैदराबाद आदि संस्थानों की भी आवेदन प्रक्रिया जारी है। विद्यार्थी अपनी आवश्यकतानुसार इन संस्थानों के लिए भी आवेदन कर सकते हैं।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.