अप्रेल जेईई-मेन (JEE Main) आवेदन प्रारंभ, अंतिम तिथि 7 मार्च
  • 5, 7 से 9 एवं 11 अप्रैल को होगी परीक्षा
  • अब ईडब्ल्यूएस विद्यार्थियों को मिलेगा 10 प्रतिशत आरक्षण

कोटा. एनटीए की ओर से देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन अप्रैल जोकि इस वर्ष 5, 7 से 9 एवं 11 अप्रैल को देश के 224 शहरों एवं विदेशों के 9 शहरों में दो पारियों में सुबह 9ः30 से 12ः30 एवं दोपहर 2ः30 से 5ः30 बजे तक आयोजित होने जा रही है। राजस्थान में इस परीक्षा के लिए परीक्षा अजमेर, अलवर, बीकानेर, जयपुर, जोधपुर, कोटा, सीकर, श्रीगंगानगर एवं उदयपुर शहर में केन्द्र बनाए गए हैं। पूर्व में आयोजित जनवरी जेईई मेन परीक्षा में कुल 8 लाख 69 हजार 10 विद्यार्थी शामिल हुए थे। अप्रैल जेईई मेन परीक्षा के लिए आवेदन शुक्रवार से प्रारंभ हो चुके हैं। आवेदन की अंतिम तिथि 7 मार्च तक रखी गई है। परीक्षा के प्रवेश पत्र 20 मार्च को जारी किए जाएंगे। साथ ही जेईई मेन अप्रैल परिणाम के साथ-साथ आॅल इंडिया रैंक एवं एडवांस्ड देने की पात्रता भी 30 अप्रैल को घोषित की जाएगी।


विद्यार्थियों को जेईई मेन अप्रैल आनलाइन आवेदन के दौरान योग्यतानुसार अत्यंत सावधानीपूर्वक दिए गए विकल्प पर जाकर आवेदन करना होगा। ऐसे विद्यार्थी जिन्होने जनवरी माह में जेईई मेन परीक्षा दी है, उन्हें पुनः अप्रैल में आवेदन करने के लिए जेईई मेन जनवरी का एप्लीकेशन नंबर एवं आॅनलाइन आवेदन के दौरान बनाए गए पासवर्ड डालकर लाॅगइन करना होगा। इसके पश्चात विद्यार्थी को परीक्षा माध्यम, परीक्षा केन्द्र, 12वीं बोर्ड संबंधित जानकारी भरनी होगी। वहीं 12वीं बोर्ड से संबंधित दस्तावेज स्कैन करके अपलोड भी करने होंगे। ऐसा जेईई मेन में पहली बार होगा जब 12वीं बोर्ड से संबंधित दस्तावेजों को मांगा गया है। इसके उपरांत विद्यार्थी आवश्यक परीक्षा शुल्क का भुगतान कर आवेदन कर सकता है। जबकि विद्यार्थी द्वारा पूर्व में जनवरी परीक्षा के दौरान किए गए आवेदन में से विद्यार्थी का नाम, माता-पिता का नाम, कैटेगिरी, जेंडर, जन्मदिनांक, स्टेट आफ एलिजिबिलिटी आदि जानकारियां पूर्व में भरे गए आवेदन में से लिए जाएंगे। जिसमें विद्यार्थी कोई बदलाव नहीं कर सकेगा। इसके अतिरिक्त पहली बार अप्रैल माह में परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को पूर्ण आवेदन प्रक्रिया से गुजरना होगा और सभी जानकारियां भरनी होगी। ऐसे विद्यार्थी, जिन्होने जनवरी आवेदन के दौरान अपने द्वारा दी गई जानकारी में कोई भी गलती कर दी है, उन्हें अभी अप्रैल आवेदन में बदलाव का मौका नहीं मिलेगा। ऐसे विद्यार्थी आवेदन में हुई त्रुटियों को 3 से 12 मार्च के मध्य सुधार सकेंगे।


विद्यार्थियों को जेईई मेन अप्रैल आनलाइन आवेदन के दौरान योग्यतानुसार अत्यंत सावधानीपूर्वक दिए गए विकल्प पर जाकर आवेदन करना होगा। ऐसे विद्यार्थी जिन्होने जनवरी माह में जेईई मेन परीक्षा दी है, उन्हें पुनः अप्रैल में आवेदन करने के लिए जेईई मेन जनवरी का एप्लीकेशन नंबर एवं आॅनलाइन आवेदन के दौरान बनाए गए पासवर्ड डालकर लाॅगइन करना होगा। इसके पश्चात विद्यार्थी को परीक्षा माध्यम, परीक्षा केन्द्र, 12वीं बोर्ड संबंधित जानकारी भरनी होगी। वहीं 12वीं बोर्ड से संबंधित दस्तावेज स्कैन करके अपलोड भी करने होंगे। ऐसा जेईई मेन में पहली बार होगा जब 12वीं बोर्ड से संबंधित दस्तावेजों को मांगा गया है। इसके उपरांत विद्यार्थी आवश्यक परीक्षा शुल्क का भुगतान कर आवेदन कर सकता है। जबकि विद्यार्थी द्वारा पूर्व में जनवरी परीक्षा के दौरान किए गए आवेदन में से विद्यार्थी का नाम, माता-पिता का नाम, कैटेगिरी, जेंडर, जन्मदिनांक, स्टेट आफ एलिजिबिलिटी आदि जानकारियां पूर्व में भरे गए आवेदन में से लिए जाएंगे। जिसमें विद्यार्थी कोई बदलाव नहीं कर सकेगा। इसके अतिरिक्त पहली बार अप्रैल माह में परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को पूर्ण आवेदन प्रक्रिया से गुजरना होगा और सभी जानकारियां भरनी होगी। ऐसे विद्यार्थी, जिन्होने जनवरी आवेदन के दौरान अपने द्वारा दी गई जानकारी में कोई भी गलती कर दी है, उन्हें अभी अप्रैल आवेदन में बदलाव का मौका नहीं मिलेगा। ऐसे विद्यार्थी आवेदन में हुई त्रुटियों को 3 से 12 मार्च के मध्य सुधार सकेंगे।

ईडब्ल्यूएस श्रेणी को 10 प्रतिशत आरक्षण
इन्फार्मेशन बुलेटिन के अनुसार जनरल ईडब्ल्यूएस श्रेणी के विद्यार्थियों को केन्द्र सरकारी संस्थानों में 10 प्रतिशत का आरक्षण सुनिश्चित कर दिया गया है। जबकि गत वर्ष आईआईटी, एनआईटी में यह आरक्षण 4 प्रतिशत ही दिया गया था। इस प्रकार ईडब्ल्यूएस श्रेणी के विद्यार्थियों को अब अपनी कैटेगिरी का लाभ और अधिक मिलेगा। सामान्यतया काउंसलिंग के दौरान सभी विद्यार्थियों को सर्वप्रथम ओपन कैटेगिरी से सीट आवंटन होता है। इस स्थिति में सीट नहीं मिलने पर उनकी कैटेगिरी अनुसार रैंक पर सीट आवंटन की जाती है।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.