पेपर एनालिसिस – जेईई मेन 2020: जेईई-मेन में दो चैप्टर के काॅन्सेप्ट को मिलाकर तैयार किए गए सवाल

जेईई-मेन की शुक्रवार को भी कम्प्यूटर बेस्ड मोड पर दो पारियों में परीक्षा हुई। विद्यार्थियों के फीडबैक के अनुसार जेईई मेन्स का पेपर स्तरीय रहा, तीसरे दिन प्रश्नपत्रों में नयापन यह देखने को मिला कि अब किसी एक टाॅपिक से ही सवाल नहीं आ रहे वरन कुछ सवालों में दो टाॅपिक्स को मिलाकर भी सवाल बनाए जा रहे हैं। इससे पेपर्स में कुछ सवालों का डिफिकल्टी लेवल हाई हो गया।

पहली पारी
सुबह की पारी में परीक्षा देने वाले स्टूडेंट्स से प्राप्त फीडबैक के अनुसार गणित में लम्बी केलकुलेशन व फिजिक्स के कुछ सवाल डिफिकल्ट रहे। फिजिक्स में कक्षा 11 से अधिक सवाल रहे। केमेस्ट्री में बायोमोलीक्यूल व एफ ब्लाॅक के सवाल सितम्बर जेईई-मेन में पहली बार दिखे। आर्गेनिक में सेपरेशन टेक्नीक से संबंधित, अभिक्रियाओं के क्रम के बाद बने उत्पाद में काइरल सेंटर वाले न्यूमेरिकल थे। फिजिकल केमेस्ट्री में इलेक्ट्रोकेमेस्ट्री, सरफेस केमेस्ट्री का अधिक वैटेज रहा। इन आर्गेनिक में काॅर्डिनेशन केमेस्ट्री के आईसोमेरिक व वीबीटी से पी ब्लाॅक से कैमिकल बाॅंिडंग से सवाल पूछे गए। फिजिक्स में डाइमेंशन एनालिसिस व कम्पाउंड माइक्रोस्कोप से कठिन रहे। सेमीकण्डक्टर, मैग्नेटिक डायपोल से भी सवाल पूछे गए। इलेक्ट्रोस्टेट के एक सवाल में दो परपेंडीकूलर प्लेट देकर सवाल पूछा गया, जिसके दो आॅप्शन एक जैसे दिखे। मैथ्स में कक्षा 12 के टाॅपिक्स का वैटेज अधिक रहा। लेंदी कैलकूलेशन के कारण समय ज्यादा लगा। इंटीग्रेशन से 3 जिसमें कोनिक सेक्शन से 3, जिसमें इलीप््स से दो सवालों के साथ 1-1 सवाल रिजनिंग व मीन व वैरियंट से रहा।

दूसरी पारी
शाम की पारी में परीक्षा देने वाले स्टूडेंट्स से प्राप्त फीडबैक के अनुसार कुछ सवालों में दो चैप्टर के कन्सेप्ट को मिलाकर सवाल तैयार किए गए और स्टूडेंट्स की नाॅलेज को टेस्ट किया गया। केमेस्ट्री का पेपर कठिन वहीं फिजिक्स व मैथ्स आसान रही। फिजिक्स में एक सवाल में मैग्नेटिज्म व रोटेशन जैसे चैप्टर को मिलाकर सवाल तैयार किया गया, मैथ्स में पैराबोला को मैक्सिमा व मिनिमा से रिलेट किया गया। कैमेस्ट्री में मेटलर्जी के सवाल को एन्वाइटमेंट से जोड़ा गया। फिजिक्स में एनसीईआरटी बेस्ड सवाल रहे। तीनों विषयों के टाॅपिक कवर किए। डिस्प्लेसमेंट के एक सवाल में 100/21 था जिसे द/21 करने को कहा गया। मैथ्स में इंटीग्रेशन का सवाल थोड़ा ज्यादा समय लेने वाला रहा, जबकि प्रोबेब्लिटी व स्टेटिक के सवाल आसान रहे। केमेस्ट्री में फीजिकल केमेस्ट्री में एक्टीवेशन एनर्जी के एक सवाल ने बच्चों को उलझाया। आर्गेनिक का वैटेज ज्यादा रहा, जिसमें अमीनोएसिड, एन्टीहीस्टाइामन की ड्रग की मैकेनिज्म वाले सवालों में डिफिकल्टी लेवल अच्छा व इनआर्गेनिक में कार्डिनेशन, लैंथेनाइड, एसब्लाॅक के सवाल थे।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.