5, 7 से 9 एवं 11 अप्रैल को होगी परीक्षा

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा आयोजित की जा रही देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन अप्रेल इस वर्ष 5, 7 से 9 एवं 11 अप्रैल को दो शिफ्टों में सुबह 9.30 से 12.30 एवं दोपहर 2.30 से 5.30 तक देश के 224 परीक्षा शहरों में एवं विदेश के 09 शहरों में संपन्न होगी।
इस परीक्षा के लिए करीब 2 लाख 65 हजार से ज्यादा ऐसे नए विद्यार्थियों ने पंजीकरण कराया है, जिन्होंने जनवरी माह में जेईई मेन परीक्षा नहीं दी थी। इसके साथ ही बड़ी संख्या में वे विद्यार्थी भी पंजीकृत हुए हैं जो जनवरी जेईई मेन परीक्षा देने के उपरांत अपना एनटीए स्कोर बेहतर बनाना चाहते हैं। ऐसे में एक अनुमान के अनुसार 9 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों की जेईई मेन अप्रैल परीक्षा में शामिल होने की संभावना है। अप्रैल परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र शुक्रवार को जारी किए जाएंगे। विद्यार्थी को अपनी परीक्षा तिथि एवं शिफ्ट के साथ-साथ परीक्षा केन्द्र की जानकारी भी मिल पाएगी। विद्यार्थियों को अपना प्रवेश पत्र जेईई मेन वेबसाइट पर दिए गए विकल्प पर जाकर अपना एप्लीकेशन नंबर एवं आॅनलाइन फाॅर्म फिलिंग के दौरान बनाए गए पासवर्ड अथवा जन्मतिथि भरकर डाउनलोड करना होगा। विद्यार्थियों को परीक्षा के संबंधित समस्त निर्देशों की जानकारी प्रवेश पत्र में दी जाएगी। 30 अप्रेल को जेईई-मेन की आॅल इंडिया रैंक एवं एडवांस्ड देने की पात्रता घोषित की जाएगी।

विद्यार्थियों को आवेदन के दौरान चुने हुए प्रथम परीक्षा केन्द्र मिलने की ज्यादा संभावना रहती है। ऐसे में विद्यार्थी प्रथम परीक्षा केन्द्र के अनुसार अपनी आने जाने की व्यवस्था अवश्य कर लेवे, क्योंकि वर्तमान स्थितियों में परीक्षा में 15 दिन शेष हैं। इधर, कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे के चलते भी विद्यार्थियों व अभिभावकों में असमंजस की स्थिति है। इस संदर्भ में अभी तक एनटीए द्वारा कोई दिशा-निर्देश जारी नहीं किए गए हैं। फिर भी कुछ अभिभावकों व विद्यार्थियों की मांग है कि स्थितियों को देखते हुए परीक्षा केन्द्र में बदलाव का एक और अवसर दिया जाए, ताकि विद्यार्थी जिस भी शहर में है, उसमें अपना परीक्षा केन्द्र मांग सकें। ऐसे में विद्यार्थियों व अभिभावकों को कम से कम यात्रा करनी पड़ेगी।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.