जेईई-मेन ऑनलाइन आवेदन में आधार अनिवार्य नहीं

एनटीए की ओर से आयोजित देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जनवरी जेईई मेन 2020 की आवेदन प्रक्रिया जारी है। इस वर्ष यह परीक्षा एनटीए द्वारा दो बार जनवरी और अप्रैल के माह में पूर्णतः कंप्यूटर बेस्ड कराई जा रही है। जनवरी माह में यह परीक्षा 6 जनवरी से 11 जनवरी के मध्य दो शिफ्टों में देश के 224 शहरों में संपन्न होगी। मात्र दो दिनों में ही 50 हजार से ज्यादा विद्यार्थी जेईई मेन में शामिल होने के लिए आवेदन कर चुके है। इस तरह इस वर्ष 9 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों के आवेदन करने की संभावना दिखाई दे रही है। आवेदन की अंतिम तिथि 30 सितंबर तक रखी गई है। विद्यार्थी ऑनलाइन आवेदन के दौरान आधार कार्ड के अलावा अपना राशन कार्ड नम्बर, बैंक अकाउंट नम्बर, वोटर आईडी,
पासपोर्ट नम्बर एवं कोई भी वैध सरकारी पहचान क्रमांक डालकर आवेदन कर सकते हैं। सिर्फ आधार कार्ड की अनिवार्यता आवेदन के दौरान नहीं है।

इस वर्ष प्रथम बार जेईई मेन क्वालिफिकेशन आवेदन में विद्यार्थियों के एकेडमिक क्वाल्फििकेशन वाले कॉलम में 10वीं की भी समस्त जानकारी मांगी गई है। आॅनलाइन आवेदन के दौरान वे विद्यार्थी असमंजस में आ गए हैं, जिनकी बोर्ड पात्रता पूरी नहीं होने के कारण इस वर्ष इम्प्रूवमेंट की परीक्षा दे रहे हैं। क्योंकि आवेदन के दौरान 12वीं की एकेडमिक डिटेल वाले कॉलम में इन विद्यार्थियों के लिए इम्प्रूवमेंट संबंधित जानकारी देने का कोई विकल्प नहीं हैं। जबकि गत वर्ष तक इम्प्रूवमेंट वाले विद्यार्थियों को आवेदन के दौरान अपने इम्प्रूवमेंट संबंधित जानकारी भरने का मौका दिया जाता था। इसके साथ ही इस वर्ष भी 12वीं बोर्ड की पात्रता पूरी नहीं होने पर विद्यार्थी कितने विषय में इम्प्रूवमेंट परीक्षा दे सकते हैं, इस तथ्य संबंधित कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है लेकिन, गत वर्षों में जारी जानकारी के अनुसार विद्यार्थी आईआईटी, एनआईटी में प्रवेश के लिए एक या एक से अधिक विषयों में बोर्ड की पात्रता करने के लिए इम्प्रूवमेंट परीक्षा दे सकते हैं। विद्यार्थियों द्वारा बोर्ड पात्रता के लिए कुछ विषयों में इम्प्रूवमेंट देने पर उनकी दोनों वर्षों की अंकतालिकाओं से विषयवार अधिकतम अंक लिए जाते हैं।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.