आईआईटी-एनआईटी के अलावा इंजीनियरिंग के और भी हैं विकल्प

देश की 23 आईआईटी, 31 एनआईटी, 24 ट्रिपलआईटी, 21 जीएफटीआई की लगभग 36 हजार सीटों के अलावा ऐसे भी कई इंजीनियरिंग संस्थान हैं जहां से हजारों की संख्या में हर साल विद्यार्थी डिग्री हासिल कर भविष्य बना रहे हैं। इस साल भी आईआईटी-एनआईटी-ट्रिपलआईटी एवं जीएफटीआई की ज्वाइंट काउंसलिंग जोसा द्वारा करवाई जा रही है। मैथ्स-साइंस के विद्यार्थी इंजीनियरिंग परीक्षा की तैयारी के साथ-साथ डिजाइन, रिसर्च, सांख्यिकी, गणित बेसिक साइंस, फैशन टेक्नोलाॅजी, रेलवे, आर्किटेक्चर, एनडीए, मास कम्यूनिकेशन, आर्मी, मरीन, नेवी, सीए, पायलट, सीएस, लाॅ आदि क्षेत्रों में विकल्प लेकर भविष्य बना सकते हैं।

जेईई-मेन की आवेदन प्रक्रिया समाप्त होने के बाद अब विद्यार्थी कुछ प्रमुख इंजीनियरिंग संस्थान जैसे बिट्स पिलानी, वीआईटी वैल्लूर, मणिपाल मेंगलुर, आईपीओ दिल्ली, अमृता चैन्नई, एसआरएम चैन्नई, क्यूसेट केरला, एएमयू अलीगढ़, कामेडके कर्नाटका, एनमेट मुम्बई, यूपीए देहरादून, सीएमआई चैन्नई, आईएसआई कोलकाता, बनस्थली जयपुर आदि प्रमुख इंजीनियरिंग संस्थानों में भी आवेदन कर प्रवेश ले सकते हैं। इनमें से बहुत से इंजीनियरिंग संस्थानों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और बहुत से इंजीनियरिंग संस्थानों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया फरवरी-मार्च में समाप्त होने वाली है। अतः विद्यार्थी इन संस्थानों में प्रवेश हेतु समय रहते आवेदन अवश्य कर देंवे।

विशेषतः जामिया मिलिया, वीआईटी वैल्लुर, क्यूसेट के लिए 28 फरवरी, एसआरएम 1 मार्च, एनआईएसईआर 5 मार्च, मणिपाल 11 मार्च, आईएसआई कोलकाता 9 मार्च, बिट्स पिलानी 13 मार्च, यूपीटीयू 15 मार्च, अमृता व कलिंगा के लिए 31 मार्च तक आवेदन किए जा सकते हैं। जेईई-मेन के स्कोर व रैंक के आधार पर भी विद्यार्थी कई अच्छे इंजीनियरिंग संस्थानों में अलग से आवेदन कर सकते हैं। इनमें ट्रिपलआईटी हैदराबाद, डीटीयू दिल्ली, एनएसआईटी दिल्ली, ट्रिपल आईटी दिल्ली, धीरूभाई अंबानी, निरमा अहमदाबाद, जेपी नोएडा, थापर पटियाला, पीडीपीओ गांधीनगर, पंजाब इंजीनियरिंग काॅलेज चंडीगढ़, आईआईएससी बैंगलुरू, एआईटी पुणे, एलएनएमआईआईटी जयपुर जैसे इंजीनियरिंग संस्थान शामिल हैं। इनमें से कई संस्थानों में जेईई-मेन की काफी पीछे की रैंक के आधार पर भी प्रवेश संभव होता है। अतः विद्यार्थी को जेईई-मेन के अतिरिक्त अन्य इंजीनियरिंग संस्थानों में भी प्रवेश के विकल्प साथ लेकर चल सकता है।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.